Best {27} Emotional Shayari In Hindi

Emotional Shayari In Hindi :

भावना Emotion एक एहसास है. हम सभी भावनाओ Emotional से जुड़े हुए है. हमारा हर रिश्ता चाहे वो दोस्ती का हो, प्यार का हो, या परिवार का हो हम सबकी उस रिश्ते के प्रति भावना ही है, जो हमारे बीच कड़ी का काम करती है. यह कड़ी जितनी मज़बूत होगी उतना ही मज़बूत हमारा रिश्ता रहेगा. किसी के लिए हम खुश होते हैं या किसी की होने से खुश होते है इसी प्रकार हम किसी के लिए दुखी होते हैं या किसी के न होने से दुखी होते है. जैसे शरीर में प्राण होता है उसी प्रकार दिल में भावनाये होती है. कोई ज़ाहिर कर देता है कोई छुपा लेता है. व्यक्ति भावनाओ के बगैर कुछ भी नहीं मनो प्राण बिना शरीर. हमे खुद से ज्यादा दुसरो की भावनाओ की कदर करनी चाहिए. सभी अपने तरीके से अपनी भावना को प्रकट करते है कोई प्यार से, कोई गुस्से से, कोई गा कर, कोई नाच कर, तो लिख करअपनी भावनाओ को प्रकट करता है. कभी अपने सोंचा है की अपनी भावना न प्रकट कर पाना कितनी बड़ी तकलीफ की बात है? या आपकी भावना को उचित मान न मिलना भी कितनी बड़ी पीड़ा है. ये बस वही समझ सकता है जो ऐसा नहीं कर पाता या जिसके साथ ऐसा होता है. कोई आपसे कितना भी दूर हो उसके लिए प्यार बेसुमार होता है और कोई आपके पास होकर भी मीलों दूर लगता है. सबसे प्यार करो किसी का बुरा न चाहो देखो फिर दुनिया कितनी सुन्दर लगती है और आप कितने खुश होते है.

Emotional Shayari In Hindi
Emotional Shayari

तेरा साथ अब किसी किस्से सा लगता है.
बीते पुराने पलों के हिस्से सा लगता है.
रुक जाना नहीं चाहता अब मैं तेरे शहर में…
यहाँ से टूटा मेरा हर रिश्ता सा लगता है…

Tera Sath Aab Kisi Kisse Sa Lagta Hai
Bite Purane Palo Ke Hisse Sa Lagta Hai
Ruk Jana Nahi Chahta Aab Mai Tere Shahar Me
Yanha Se Tuta Mera Har Rishta Sa Lagta Hai

Emotional Shayari In Hindi

कुछ इस कदर बदरंग सी ये ज़िन्दगी लगती है.
शायद इसमें तेरे नूर की कमी सी लगती है.
तनहा और वीरान ये सारा जहाँ लगता है.
बिन तेरे सुनी सुनी ये ज़मी लगती है.
कुछ धुंधला सा नज़र आता है ये सब कुछ मुझे.
शायद मेरी ही आँखों में कुछ नमी सी लगती है.

Kuchh Es Kadar Badrang Si Ye Jindagi Lagti Hai
Shayad Isme Tere Noor Ki Kami Si Lagti Hai
Tanha Aur Viran Ye Sara Janha Lagta Hai
Bin Tere Suni Suni Ye Jami Lagta Hai
Kuchh Dhundhla Sa Najar Aata Hai Ye Sab Kuchh Mujhe
Shayad Meri Hi Ankhon Me Kuchh Nami Si Lagtia Hai